January 24, 2022

बिंदास अक्स

हमेशा सच के साथ

उप्र : 24 घंटों में रिकार्ड 994.83 मीट्रिक टन ऑक्सीजन की आपूर्ति

Current information on the COVID-19 pandemic | Festo Corporate

– विशेष कन्ट्रोल रूम से लगातार हो रही ऑक्सीजन सप्लाई की निगरानी
लखनऊ, 08 मई । उत्तर प्रदेश के सरकारी व निजी अस्पतालों में 24 घंटों में रिकार्ड 994.83 मीट्रिक टन ऑक्सीजन की आपूर्ति हुई है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर प्रदेश में ऑक्सीजन की सप्लाई और अधिक बढ़ाये जाने को लेकर व्यापक स्तर पर कार्यवाही की गई है। यह जानकारी शनिवार को अपर मुख्य सचिव, ‘गृह’  अवनीश कुमार अवस्थी ने दी। 
बीते 24 घंटे के अंदर प्रदेश भर में हुई ऑक्सीजन सप्लाई का विवरण देते हुए बताया कि इसके अलावा सेल्फ प्रोडक्शन के तहत एयर सेपरेटर्स यूनिट्स के माध्यम से 78.46 मीट्रिक टन ऑक्सीजन आपूर्ति की गई है। 586.58 मीट्रिक टन ऑक्सीजन की आपूर्ति रिफीलर्स को खाद्य सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन विभाग द्वारा की गई है। 
उन्होंने बताया कि शासन के प्रयासों के फलस्वरूप 318.36 मीट्रिक टन ऑक्सीजन की सप्लाई प्रदेश के मेडिकल कॉलेजों व चिकित्सा संस्थानों को तथा 89.89 मीट्रिक टन ऑक्सीजन की आपूर्ति ऑक्सीजन सप्लायर्स द्वारा सीधे निजी चिकित्सालयों को की गई है। श्री अवस्थी ने बताया कि जीवन रक्षक ट्रेन द्वारा जमशेदपुर से 10 ऑक्सीजन टैंकर कुल 80 मीट्रिक टन क्षमता के आज प्रातः 11 बजे लखनऊ पहुंचाया गया है। इसी प्रकार कानपुर के लिये 6 टैंकर लगभग 48 मीट्रिक टन क्षमता के उपलब्ध कराये गए हैं। डीआरडीओ लखनऊ के अस्पताल के लिए भी पर्याप्त ऑक्सीजन की व्यवस्था सुनिश्चित की गई है। वहीं डीआरडीओ वाराणसी अस्पताल के लिये भी ऑक्सीजन की समुचित व्यवस्था की गयी है। 
उन्होंने बताया कि कानपुर के लिये कल 80 मीट्रिक टन ऑक्सीजन एक विशेष रेल के माध्यम से पहुंचाये जाने की व्यवस्था की गई है। नोएडा, गाजियाबाद, मेरठ के लिये जामनगर गुजरात से 80 मीट्रिक टन के टैंकर भरकर ऑक्सीजन आज रात्रि या कल प्रातः तक उपलब्ध कराये जाने की व्यवस्था की गई है।
उन्होंने बताया कि गृह विभाग में बने एक विशेष कन्ट्रोल रूम के माध्यम से ऑक्सीजन आपूर्ति व्यवस्था की मानीटरिंग की जा रही है। इस कन्ट्रोल रूम में गृह विभाग, खाद्य एवं औषधि प्रशासन, चिकित्सा शिक्षा, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण तथा परिवहन विभाग के वरिष्ठ अधिकारी व कर्मचारी लगातार 24 घंटे परस्पर समन्वय बनाकर कार्य कर रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *